Software Engineer Kaise Bane

Software Engineer Kaise Bane 

आज हम जानेंगे सॉफ्टवेयर इंजीनियर कैसे बने! हम सब जानते हैं आज कंप्यूटर का युग है आज छोटे से बड़ा काम कंप्यूटर के माध्यम से सिर्फ कुछ मिनटों में हो जाता हैं। आज भारत में कंप्यूटर और टेक्नोलॉजी का उपयोग बहुत तेज़ी से बढ़ रहा हैं, आज के बच्चे और युवा पीढ़ी भी इन सब चीज़ो में खूब दिलचस्पी ले रहे हैं। 

ऐसे में कई स्टूडेंट्स की यह इच्छा जरूर होती हैं वे भी 12th के बाद कंप्यूटर और टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में ही अपनी आगे की पढ़ाई करें और अपना करियर बनाए। कंप्यूटर के क्षेत्र में आने वाले स्टूडेंट्स के लिए सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग एक बहुत ही अच्छा ऑप्शन हैं, जिसमें करियर बनाने और जॉब्स के अपार संभावनाएं मौजूद हैं।

तो चलिए जानते हैं की सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग क्या होता हैं,सॉफ्टवेयर इंजीनियर कैसे बने,सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए योग्यता, सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग कोर्स फीस, सॉफ्टवेयर इंजीनियर को कितना सैलरी मिलता है आदि के बारे में विस्तार से हिंदी में।

एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर क्या करता है

एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर का मुख्य कार्य किसी कंपनी या व्यवसाय के लिए विभिन्न सॉफ्टवेयर और सिस्टम को विकसित करना होता है। वे वेब एप्लिकेशन, मोबाइल ऐप, ऑपरेटिंग सिस्टम, गेम, डेस्कटॉप एप्लिकेशन आदि सहित विभिन्न उत्पादों की योजना बनाते हैं और विकसित करते हैं। 

Software Engineer Kaise Bane,एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर क्या करता है, software engineering course fees, software engineering course in hindi, सॉफ्टवेयर इंजीनियर सैलरी, सॉफ्टवेयर इंजीनियर कोर्स कितने साल का होता है, सॉफ्टवेयर इंजीनियर क्या है, सॉफ्टवेयर इंजीनियर सैलरी इन इंडिया, software engineering courses after 12th, सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग कॉलेज

एक सफल सॉफ्टवेयर इंजीनियर होने के लिए कुछ आवश्यक कौशल की आवश्यकता होती है, जिसमें कोडिंग और कंप्यूटर प्रोग्रामिंग का ज्ञान शामिल होता है। महत्वपूर्ण नई सोच और समस्या को सुलझाने के कौशल भी उन कौशलों में से हैं जो आपको इन क्षेत्रो में कुशल बना सकता हैं।

12वीं के बाद सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए शैक्षणिक योग्यता 

1. विधार्थी को 10th और 12th भौतिकी, रसायन विज्ञान और गणित के साथ पास किया होना अनिवार्य हैं।

2. मान्यता प्राप्त बोर्ड से कक्षा 10th में 50 % के न्यूनतम अंक के साथ पास होना आवश्यक हैं।

3. मान्यता प्राप्त बोर्ड से कक्षा 12th में भौतिकी, रसायन विज्ञान और गणित के साथ आपको न्यूनतम 60%  अंक प्राप्त किया होना चाहिए। 

4. कॉलेज में प्रवेश के लिए प्रवेश परीक्षा (राष्ट्रीय स्तर, राज्य स्तर, या विश्वविद्यालय) को अच्छे अंको के साथ पास होना जरुरी हैं।

डिप्लोमा पाठ्यक्रम:

डिप्लोमा स्तर के कोर्स में दाखिला लेने के लिए उम्मीदवारों को किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से कक्षा 10 वीं की पढ़ाई पूरी करनी होगी।

यूजी पाठ्यक्रम:

बीटेक/ बीई/ बीएससी जैसी स्नातक की डिग्री हासिल करने के लिए उम्मीदवारों को भौतिकी, रसायन विज्ञान और गणित के साथ कक्षा 12 वीं की पढ़ाई पूरी करनी होगी। 

पीजी कार्यक्रम:

एमटेक/ एमई/ एमएससी जैसे पीजी पाठ्यक्रमों के लिए उम्मीदवारों के पास सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग, कंप्यूटर विज्ञान या संबंधित अनुशासन में बीटेक/ बीई/ बीएससी की डिग्री होनी चाहिए। उन्हें 50% के न्यूनतम कुल के साथ स्नातक की डिग्री होनी चाहिए।

सॉफ्टवेयर इंजीनियर कैसे बनें

1. स्कूल स्तर से शुरू करें

सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने की तैयारी आपको अपने स्कूल स्तर से ही शुरू कर देना चाहिए। अनिवार्य आवश्यकताओं में से सबसे पहला काम आपको 10 वीं बोर्ड के बाद विज्ञान स्ट्रीम लेना होगा। आपको यह सुनिश्चित करना चाहिए कि आपके पास विज्ञान विषयों में पढ़ाए जाने वाले सभी बुनियादी विषयों की अच्छी समझ है। 

क्योंकि स्कूल के बाद इस क्षेत्र में उच्च शिक्षा की डिग्री हासिल करने के योग्य होने के लिए यह आवश्यक है। साथ ही आपको विज्ञान विषयों में अच्छे अंकों के साथ पास होना होगा। ताकि आप अपने आगे के अध्ययन के लिए सर्वश्रेष्ठ विश्वविद्यालयों में से एक में अध्ययन की न्यूनतम आवश्यकताओं को पूरा कर सकें।

2. स्नातक की डिग्री प्राप्त करें

दूसरा सबसे महत्वपूर्ण कदम इस क्षेत्र या इससे संबंधित क्षेत्र में स्नातक की डिग्री प्राप्त करना होता है। चूंकि सभी विश्वविद्यालय सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग में स्नातक की डिग्री प्रदान नहीं करते हैं। इसलिए कंप्यूटर साइंस  में स्नातक के लिए जाना एक अच्छा विचार है, क्योंकि यह कंप्यूटर विज्ञान के तहत एक विशेष क्षेत्र है। 

कंप्यूटर साइंस में स्नातक 4 साल का होता है, और सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए आपको उन सभी आवश्यक विषयों को कवर करना होगा जिन्हें आपको मास्टर करने की आवश्यकता है। हालांकि आप इस क्षेत्र में Diploma Courses करके भी एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर बन सकते हैं, पर स्नातक प्राप्त करना एक अच्छा विचार है। क्योंकि शीर्ष कंपनियां अक्सर उन उम्मीदवारों को काम पर रखना पसंद करती हैं जिनके पास कम से कम स्नातक की डिग्री है।

3. इंटर्नशिप

इंटर्नशिप आपको अपने कौशल को व्यवहार में लाने में मदद करता है। सुनिश्चित करें कि काबू करने के लिए के रूप में कई इंटर्नशिप के अवसर के रूप में आप कर सकते हैं।  ये इंटर्नशिप आपको आपके द्वारा किए जाने वाले विभिन्न कार्यों की बहुत आवश्यक समझ प्रदान करेंगे और आपके भविष्य के प्रयासों में सफलता प्राप्त करने में आपकी सहायता करेंगे। जब आप नौकरियों के लिए आवेदन करते हैं तो यह आपको अन्य उम्मीदवारों पर तुलनात्मक रूप से ज्यादा लाभ भी मिलेगा। 

4. नौकरियों के लिए आवेदन करें

सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने की दिशा में अंतिम और सबसे महत्वपूर्ण कदम नौकरियों के लिए आवेदन करना होता है। आपको सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग नौकरी के लिए सही उम्मीदवार के रूप में माने जाने वाले अपने सभी कौशल और अनुभव को उजागर करने की आवश्यकता है। 

शुरुवात में आपको एक छोटी कंपनी में नौकरी के साथ करना चाहिए, इससे आपको काम करने का प्रोफेशनल अनुभव मिलेगा। जैसा ही आप अपने कौशल में और भी अनुभवी होंगे, आप जल्द ही उसी कंपनी में प्रमोशन प्राप्त कर हायर पोस्ट प्राप्त कर सकते हैं। इसके अलावा आप अपनी सपनों की कंपनी में ड्रीम जॉब के लिए अप्लाई  कर सकते हैं।

एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर की भूमिका

सॉफ्टवेयर इंजीनियर सॉफ्टवेयर के विकास और सुधार के लिए इंजीनियरिंग सिद्धांतों को लागू करते हैं। वे वर्तमान सॉफ़्टवेयर का विश्लेषण और परिवर्तन करते हैं, साथ ही साथ एंड्रॉइड-यूज़र प्रोग्राम का विकास, निर्माण और परीक्षण करते हैं, जो उपयोगकर्ता की आवश्यकताओं से मेल खाते हैं। 

सभी सॉफ्टवेयर प्रोग्रामिंग भाषाओं का उपयोग करते हैं। फ़ंक्शन जटिल और बड़े सॉफ़्टवेयर सिस्टम पर भी ध्यान केंद्रित करता है जिसमें एक संगठन के मुख्य सिस्टम शामिल होते हैं।

Top 10 Software Engineering Colleges In The World 

एक सम्मानित विश्वविद्यालय में एक सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग पाठ्यक्रम का अध्ययन करने से आपको अपने कौशल को उच्चतम संभव स्तरों तक विकसित करने में मदद मिल सकती है। यहां दुनिया भर के कुछ बेहतरीन विश्वविद्यालय हैं जहां आप सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए कोर्स कर सकते हैं:

  1.  मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी  (संयुक्त राज्य अमेरिका)
  2.  स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी  (संयुक्त राज्य अमेरिका)
  3.  हार्वर्ड यूनिवर्सिटी  (संयुक्त राज्य अमेरिका)
  4.  कार्नेगी मेलॉन विश्वविद्यालय (संयुक्त राज्य अमेरिका)
  5.  कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय (ब्रिटेन)
  6.  प्रिंसटन यूनिवर्सिटी  (संयुक्त राज्य अमेरिका)
  7. ऑक्सफोर्ड ब्रिटेन विश्वविद्यालय (ब्रिटेन)
  8.  कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय, बर्कले (संयुक्त राज्य अमेरिका)
  9.  टोरंटो कनाडा विश्वविद्यालय (कनाडा)
  10.  ETH ज्यूरिख स्विट्जरलैंड

Top 10 Software Engineering Colleges In India 

  1. आईआईटी मद्रास – चेन्नई 
  2. वेल्लोर इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी – तमिलनाडु 
  3. भारतीय अंतरिक्ष विज्ञान और प्रौद्योगिकी संस्थान – केरला 
  4. एसआरएम इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी- चेन्नई 
  5. आईआईटी मुंबई 
  6. एमआईटी मणिपाल
  7. DSCE बंगलोर
  8. लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी – पंजाब  
  9. दिल्ली टेक्नोलॉजी यूनिवर्सिटी – नई दिल्ली
  10. जामिया मिलिया इस्लामिया – नई दिल्ली 

सॉफ्टवेयर इंजीनियर सैलरी 

सॉफ्टवेयर इंजीनियर की सैलरी नौकरी की स्थिति, अनुभव और स्थान जैसे कई कारकों पर निर्भर करता है। प्रारंभिक वेतन लगभग 5 लाख से लेकर 14 लाख रुपये प्रति वर्ष तक हो सकते है। जो अनुभव के आधार पर बढ़ता है।

निष्कर्ष 

इस तरह आज आपने जाना की Software Engineer Kaise Bane, How To Become a Software Engineer In Hindi आशा करते हैं आपको यह जानकारी अच्छा लगा होगा आपको यह Information कैसा लगा नीचे Comment में जरूर बताये।

साथ ही आप Software Engineer Kaise Bane,How To Become a Software Engineer In Hindi  को अपने दोस्तों और सोशल मीडिया में भी शेयर जरूर करें।

अगर आपके मन किसी प्रकार सवाल हैं या आप हमसे जुड़ना चाहते हैं तो इसके लिए आप हमारे सोशल मीडिया अकॉउंट Facebook या इंस्टाग्राम को लाइक या फॉलो भी कर सकते हैं। यहाँ आपको आपके सारे सवालों के जवाब मिल जाएंगे।  

यह आर्टिकल समीर आर्य द्वारा लिखा गया जो की www.heartbeatsk.com के लेखक हैं। यह keshriedutech.in पर लिखा गया हमारा पहला गेस्ट पोस्ट हैं आशा करते हैं आप सभी को पसंद आया होगा। 

Leave a Comment